EVS Full Form In Hindi ? What is The Full Form of EVS ? EVS का मतलब

नमस्कार दोस्तों, Crazyhindi.com पर एक बार फिर से आपका स्वागत है. आज का यह लेख आपके लिए बहुत ही जानकारी भरा और खास होने वाला है. क्योकि आज के इस लेख में हम जानने वाले है की EVS Full Form In Hindi ? और EVS का मतलब क्या है ? इसके साथ साथ हम ऐसी ही कई सारी बाते को जानने वाले है जिससे आपको इसके बारे में ज्यादा से ज्यादा जानकारी मिले.

आज के इस लेख में हम EVS के बारे कई से ऐसी चीजो के बारे में जानेगे जिससे आपके मन इसके बारे जो भी डाउट या सवाल है इसे आप दूर कर सके. में आपको बतादो की हमें ज्यादा से ज्यादा पर्यावरण की रक्षा करनी चाहिए. तो आज के इस लेख में हम बात करने वाले है की EVS full form in hindi ? What is EVS ? EVS का मतलब और EVS ko kya kahate hain ? इन सारी details को हम आज के इस लेख में देख ने वाले है.

मुझे पूरा यकीन है की आपने EVS के बारे पहले जरुर सुना होगा. लेकिन आपको यह नहीं मालूम होगा की EVS क्या है ? इसके बारे में जानने से पहले आपको इसका Meaning यानी EVS ka Matalab Kya hai ? इसके बारे में जान लेना चाहिए. तो चलिए सबसे पहले हम EVS Full Form In Hindi ? What is the full form of EVS ? के बारे में जानते है.

EVS Full Form Kya Hai ? (What is the Full Form of EVS ?)

EVS का Full Form “Environmental Studies” होता है. और इसका Full Form हिंदी में “पर्यावरण अध्ययन” होता है. जैसे की आप सबको मालूम होगा की पर्यावरण की सभी चीजे हमारे जीवन बहुत ज्यादा उपयोगी बनती है.

हा, एक बात यह जरुर है की सभी चीजे प्रत्यक्ष रूप से नहीं तो अप्रत्यक्ष रूप से निर्भर करती है. लेकिन सभी चीजे बहुत ही मायने रखती है.

आप के मन में यह सवाल जरुर आया होगा की हमारे पर्यावरण में ऐसी कोनसी चीजे है जो हमारे जीवन में उपयोगी बनती है ? जैसे की आप सब जानते ही है की हमारे पर्यावरण में दो प्रकार के घटक है. जिसमे जैविक घटक और अजैविक घटक का समावेश होता है. अजैविक घटक के बारे में सायद आप जानते है होगे की वो किस प्रकार से हमारे जीवन में उपयोगी है.

यह भी पढ़े —

लेकिन आप में से सायद आपको यह नही मालूम होगा की जिस प्रकार अजैविक घटक का हमारे जीवन में महत्व है बिलकुल उसी प्रकार से जैविक घटक का भी हमारे जीवन में महत्व है. अब आप सोच रहे है की जैविक घटक हमारे जीवन किस प्रकार उपयोगी बन सकता है ? तो जैविक घटक प्रत्यक्ष नहीं तो अप्रत्य्तक्ष रूप से हमारे जीवन में उपयोगी बनाते है. इसके अलावा हमारे जीवन में जानवर, पेड़-पौधे, मिट्टी, गेर-जीवित घटक और सबसे महत्व का हवा और पानी है.

EVS ka matalab kya hai ? (EVS Meaning in Hindi)

जैसे की हमने ऊपर जाना की EVS का मतलब Environmental Studies यानी की पर्यावरण अध्ययन होता है. इसके आधीन हम यह कह सकते है की पर्यावरण का अभ्यास करना ही EVS कहा जाता है. उसी प्रकार से Environment यानी वातावरण के प्राकृतिक, मानवीय, सामाजिक, और ऐसे कई आयामों की खोज, समज और विकास से संबंध EVS का है.

अगर हम जाननेकी कोशिश करे की हमारे जीवन में पर्यावरण का कितना महत्व है तो हमें पता चलता है की जीवन में Environmental Studies यानी की पर्यावरण अध्ययन कितना महत्व का है. अगर हम हमारे पर्यावरण से किसी महत्व के घटक को हटा दे तो हमारे जीवन काफी सारी मुश्केलिया आ सकती है. इसीलिए हमें समय के आधीन हमारे पर्यावरण का अध्ययन करना बहुत ही जरुरी बनता है.

जैसे की हम जानते है की प्रत्येक कार्य कई विशिष प्रकार के न्यामो के आधीन करना चाहिए. हमें कभी भी किसी को नुकशान न पहुचे इस प्रकार से कार्य करना जरुरी बनता है. इसीलिए Environmental Studies यानी की पर्यावरण अध्ययन अपने उदेश्यों के आधीन रहना चाहिए. इस तरह EVS उदेश्यों और उदेश्यों को पूरा अकरने में एक विशिष्ट भूमिका निभाता है.

EVS Kya Hai ? (EVS Ka Vishay Kaunsa hai ?)

यह एक पर्यावरण अस्ध्ययाँ का विषय है. जैसे की हम सब जानते है की Studies में मुख्या रूप से छात्रो को तिन विषयो पर ज्यादा पढाया जाता है. जिसमे इतिहास, भूगोल और विज्ञान सामिल है.

सामान्यतः एक विषय के रूप में EVS को School में पढाया जाता है. लेकिन आप सबको मालूम होगा की यह बहुत ही Tough यानी की बहुत मुश्किल विषय है. इसीलिए इसको छोटे students को समाज पाना बहुत ही मुश्किल रहता है. इसी के आधीन EVS केवल उच्च शिक्षा की के स्तर पर पढ़ाया जाता है.

यह शब्द आप तौर पर Academics यानी की शिक्षाविदों के संदर्भ में सुना जाता है. इस शब्द का उपयोग सामान्यतः स्कूल में होता है. यह विषय सामान्यतः पर्यावरण के अध्ययन के बारे में है. जैसे की आप सबको मालूम है की यह विषय पर्यवरण के आधीन है, तो जैसे ही छात्रो 5 वीं कक्षा से पास होते है तो उसके बाद इस विषय को विज्ञान के रूप पढाया जाता है. इस विषय में मुख्य रूप से भौतिक, रसायन और जीव विज्ञान को पढाया जाता है.

What is EVS Full Form in Hindi ? (EVS Ko Kya Kahate Hai ?)

सामाजिक और भौतिक घटकों की आतंरिक क्रियाओ का अध्ययन को पर्यावरण अध्ययन कहते है. जैसे की हम कभी अपने परिवेश यानी की हमर इ उपस्थिति और उसके अलावा सामाजिक और भौतिक घटकों को समजने का पप्रयास करते है. इसे ही पर्यावरण अध्ययन कहते है.

अब आपके मन में यह सवाल जरुर आया होगा की सामाजिक और भौतिक घटकों में किस चीजो का समावेश किया जाता है ? तो चलिए अब इसके बारे में जानते है.

  • सामाजिक घटक – संस्कृति, भाषा, मूल्य आदि…
  • भौतिक घटक – जानवर, पेड़-पौधे, हवा और पानी

इस प्रकार सामाजिक और भौतिक घटकों में इन चीजो का समावेश होता है. और मिजे अब यकीं है की, आपको What is EVS in Hindi ? (EVS Ko Kya Kahate Hai ?) इसके बारे में अच्छे से समज आ गया होगा.

Environmental Education Kyu ?

जैसे की आप सबको मालूम होगा की पर्यावरण में सभी यह सिखाया जाता है की, प्राकृतिक पर्यावरण को प्रदुषण मुक्त कैसे बनाये रखे ? प्राकृतिक पर्यावरण को प्रदुषण मुक्त बनाये रखने के लिए हमें पर्यावरण के सभी घटकों को व्यवस्थित रखना है.

पर्यावरण की जानकारी इसीलिए दी जाती है क्योकि इससे पर्यावरण प्रदूषित ना हो. पर्यावरण के सभी घटकों मानवों के साथ संबंध रखते है. अगर इन में से किसी भी पक्ष यानी की घटक को कोई नुकशान होता है तो बहुत ही बड़ा नुकशान होने की संभावना है. इसलिए Environmental Education यानी पर्बयावरण शिक्षा ही जरूरी बनता है.

Environmental Education का मुख्य उदेश्य लोगो को ज्ञान प्रदान करने के साथ साथ, लोगो में जागरूकता पैदा करना है. जिससे पर्यावरण का फायदा होता है.

Environmental Studies Ke Hetu (Purpose of Environmental Studies)

  • प्रकृति की पारस्परिक निर्भरता एवं संबंधो का ज्ञान करना और समाज का विकास करना.
  • पर्यावरण के विषयो को समज ने में उसकी सहयता करना.
  • पर्यावरण को अनुकूल मनोवृति को प्रोत्साहित करना.
  • सामाजिक और भौतिक परिवेश के प्रति संवेदन्शीलता विकशित करना.
  • बच्चो को उसनके वास्तविक संसार से परिचित कराना.
  • पर्यावरण का ज्ञान एवं समाज विकशित करवाना.
  • अवलोकन और सकारात्मक क्रियाओ को बढ़ावा देना.

यह भी पढ़े —

What is EVS Full Form ?

EVS का Full Form “Environmental Studies” होता है. और इसका Full Form हिंदी में “पर्यावरण अध्ययन” होता है. सामाजिक और भौतिक घटकों की आतंरिक क्रियाओ का अध्ययन को पर्यावरण अध्ययन कहते है.

What is the Importance of EVS ? (EVS ka mahtva kya hai ?)

प्रकृति की पारस्परिक निर्भरता एवं संबंधो का ज्ञान करना और समाज का विकास करना. पर्यावरण के विषयो को समज ने में उसकी सहयता करना. पर्यावरण को अनुकूल मनोवृति को प्रोत्साहित करना. सामाजिक और भौतिक परिवेश के प्रति संवेदन्शीलता विकशित करना. बच्चो को उसनके वास्तविक संसार से परिचित कराना.

What is the meaning of EVS ? (EVS matalab kya hai ?)

EVS का Full Form “Environmental Studies” होता है. और इसका Full Form हिंदी में “पर्यावरण अध्ययन” होता है. सामाजिक और भौतिक घटकों की आतंरिक क्रियाओ का अध्ययन को पर्यावरण अध्ययन कहते है.

Conclusion –

मुझे उम्मीद है की आपको आज हमारा यह लेख EVS Full Form In Hindi ? What is The Full Form of EVS ? EVS का मतलब और EVS Ko Kya Kahate Hai ? पूरी तरह से समज में आ गया होगा. और मुझे पूरा यकीन है की आपको इस Article यानी लेख से बहुत साडी जानकारी मिली होगी.

और मुझे पूरा यकीन है की आपको हमारा यह लेख आपको बहुत ही पसंद आ गया होगा. अगर आपको आज का यह लेख पसंद आया है तो कृप्या करके आप इसे अपने दोस्तों के साथ और अपने सोशल मीडिया पर शेयर जरुर करे. ताकि वो लोग भी इस जानकारी का फायदा उठा सके और साथ में यह जान सके की EVS Full Form In Hindi ? What is The Full Form of EVS ? और Environmental Studies Meaning in Hindi. और मुझे पूरा यकीं है की अबतक तो आपने यह लेख शेयर भी कर दिया होगा.

हमारी हंमेशा से ही यह कोशिश रहती है की हम हमारे Readers को एकदम सही और सटीक जानकारी प्रदान करे. ताकि आप लोगो को इन्टरनेट पर कही और जा कर search करने की जरुरत ना पड़े और आपका समय भी बच सके. अगर अभी भी आपके मन में EVS Full Form In Hindi ? What is The Full Form of EVS ? EVS का मतलब के बारे में कोई भी सवाल या डाउट है तो आप हमें Comment Section में जरुर बताये. हम आपको जानकारी देने की पूरी कोशिश करेंगे.

तो फिर चलिए दोस्तों, आज के लेख में बस इतना ही. मिलते है एक जबरदस्त और जानकारी भरे article के साथ तब तक के लिए जहा भी रहो Phodte Raho.

Leave a Comment

Share via
Copy link
Powered by Social Snap